भाजपा की पांचवीं लिस्ट में यूपी से 13 नाम:पीलीभीत से जितिन प्रसाद मैदान में, वरुण गांधी का टिकट कटा; सुल्तानपुर से मेनका लड़ेंगी चुनाव

Date:

Share post:

यूथ इंडिया, लखनऊ। भाजपा ने प्रत्याशियों की पांचवीं लिस्ट जारी कर दी है। ये लिस्ट यूपी के लिए दूसरी है। इसमें यूपी से 13 प्रत्याशियों के नाम का ऐलान किया गया है। 9 सीट पर नए चेहरे को मौका दिया है। पीलीभीत से सांसद वरुण गांधी का टिकट काटकर कैबिनेट मंत्री जितिन प्रसाद को दिया गया है। हाथरस से राज्य मंत्री अनूप बाल्मीकि को मैदान में उतारा है।

मेरठ से अरुण गोविल, बदायूं से स्वामी प्रसाद मौर्य की बेटी की जगह दुर्विजय शाक्य को टिकट दिया गया है। मुरादाबाद से सर्वेश सिंह, सहारनपुर से राघव लखनपाल, अलीगढ़ से सतीश गौतम, कानपुर से रमेश अवस्थी, सुल्तानपुर से मेनका गांधी, बरेली से छत्रपाल गंगवार को मैदान में उतारा गया है।

इस लिस्ट में 7 सामान्य वर्ग, 3 अनुसूचित, दो ओबीसी और एक अनुसूचित जनजाति के उम्मीदवार हैं। पहली लिस्ट में यूपी से 51 नाम का ऐलान किया गया था। बाराबंकी से उपेंद्र रावत ने नाम वापस ले लिया था।

इस तरह से पहली लिस्ट में 50 उम्मीदवार थे। आज 13 प्रत्याशियों के नाम का ऐलान किया गया है। इस हिसाब से बीजेपी ने कुल 63 प्रत्याशी मैदान में उतार दिए हैं।

9 सांसद के टिकट काटे
पार्टी की दूसरी लिस्ट में 9 सांसदों के टिकट काट कर नए चेहरे को उतारा है। 2019 में चुनाव हारने वाले राघव लखनपाल और सर्वेश सिंह को सहारनपुर और मुरादाबाद से दोबारा मौका मिला है। इस लिस्ट में सुल्तानपुर से मेनका गांधी और अलीगढ़ से सतीश गौतम दो और ऐसे सांसद हैं, जिन पर पार्टी ने फिर से भरोसा जताया है।

जिन प्रमुख नेताओं का टिकट कटा है, उनमें मेरठ से राजेंद्र अग्रवाल, गाजियाबाद से रिटायर्ड जनरल वीके सिंह, कानपुर से सांसद सत्यदेव पचौरी, बदायूं से संघमित्रा मौर्य, बरेली से संतोष गंगवार, बाराबंकी से उपेंद्र सिंह रावत, पीलीभीत से वरुण गांधी, हाथरस से राजवीर दिलेर बहराइच से अक्षयबर लाल भी शामिल हैं। अक्षयबर लाल की जगह उनके बेटे डॉ. आनंद गोंड को टिकट दिया गया है।

यूपी में NDA के 68 उम्मीदवार घोषित
सहयोगी दलों में सुभासपा को एक सीट मऊ दी है। वहां से सुभासपा प्रमुख ओपी राजभर ने बेटे अरविंद को उतारा है। इसके अलावा, निषाद पार्टी के संजय निषाद के बेटे प्रवीण को भाजपा ने अपने सिंबल से संतकबीरनगर से चुनावी मैदान में उतारा है। भाजपा ने गठबंधन दल अपना दल (एस) को 2 सीटें सोनभद्र और मिर्जापुर तो जयंत चौधरी की रालोद को बागपत और बिजनौर सीट दी है। यूपी में NDA के 68 उम्मीदवार घोषित हो चुके हैं।

अरुण गोविल बोले- जय श्री राम

टिकट जारी होने के बाद अरुण गोविल ने सोशल मीडिया प्लेटफार्म X पर पोस्ट शेयर की। लिखा- आदरणीय श्री नरेंद्र मोदी जी और चयन समिति का बहुत-बहुत हार्दिक आभार जिन्होंने मुझे मेरठ का सांसद प्रत्याशी बनाकर इतना बड़ा कार्यभार सौंपा है। मैं भारतीय जनता पार्टी के विश्वास और जनमानस की अपेक्षाओं पर पूर्णत: खरा उतरने का संपूर्ण प्रयास करूंगा…जय श्री राम।

भाजपा की पहली लिस्ट में 4 नए चेहरे, 9 केंद्रीय मंत्री

इससे पहले 2 मार्च को भाजपा ने यूपी की 51 सीटों पर उम्मीदवारों का ऐलान किया था। इसमें 47 मौजूदा सांसदों को उतारा है। जबकि पिछली बार हारी हुई 4 सीटों पर नए चेहरे उतारे हैं। भाजपा की पहली लिस्ट में 9 केंद्रीय मंत्री थे। हालांकि, बाद में बाराबंकी सीट पर टिकट मिलने के बाद भाजपा प्रत्याशी उपेंद्र रावत ने दावेदारी वापस ले ली थी।

7 हॉट सीटें, जिन पर नजर…

सुल्तानपुर​​​​​​: मेनका गांधी को टिकट

यहां से 2019 में भाजपा के टिकट पर मेनका गांधी ने जीत दर्ज की। जबकि 2014 में मेनका गांधी के बेटे वरुण ने यहां से सांसदी जीती थी। 2009 में कांग्रेस के डॉ. संजय सिंह यहां से सांसद चुने गए थे। मेनका गांधी लगातार भाजपा में हाशिये पर हैं। पार्टी की बैठक और कार्यक्रमों में भी वह कम ही नजर आती रहीं हैं। सुल्तानपुर से बीजेपी ने फिर टिकट दिया है।

पीलीभीत: वरुण गांधी का टिकट कटा, मंत्री जितिन प्रसाद उम्मीदवार

यहां से 2019 में भाजपा के टिकट पर वरुण गांधी ने जीत दर्ज की। 2014 में मेनका गांधी सांसद थी। जबकि 2009 में वरुण ने यहां जीत दर्ज की थी। मेनका गांधी की तरह ही वरुण भी भाजपा में हाशिये पर हैं। यही नहीं, वह लगातार अपनी सोशल मीडिया पोस्ट पर केंद्र सरकार को निशाने पर लेते रहे हैं। पीलीभीत से वरुण गांधी का टिकट कट गया है। जितिन प्रसाद को पार्टी ने टिकट दिया है।

कानपुर: रमेश अवस्थी को टिकट

यहां 2019 में सत्यदेव पचौरी ने भाजपा के टिकट पर जीत दर्ज की थी। 2014 में भाजपा के टिकट पर ही मुरली मनोहर जोशी सांसद चुने गए थे। 2009 में यह सीट कांग्रेस के पास थी। यहां श्री प्रकाश जयसवाल ने जीत दर्ज की थी।वह केंद्र की कांग्रेस सरकार में मंत्री बने थे। पार्टी ने रमेश अवस्थी को टिकट दिया है।

बदायूं: स्वामी प्रसाद की बेटी का टिकट कटा

यहां से 2019 में संघमित्रा मौर्य ने जीत दर्ज की थी। वह स्वामी प्रसाद मौर्य की बेटी हैं। 2014 और 2009 में यहां सपा के धर्मेंद्र यादव ने जीत दर्ज की थी। संघमित्रा का टिकट कट गया है। यहां दुर्विजय शाक्य को पार्टी ने टिकट दिया है।

इन 3 सीट पर प्रत्याशी अभी घोषित नहीं

कैसरगंज:​ बृजभूषण सिंह 3 बार से इस सीट से सांसद हैं। 2019 और 2014 में भाजपा के टिकट पर चुनाव जीता जबकि 2009 में सपा के टिकट पर। महिला पहलवानों ने उन पर यौन शोषण के आरोप लगाए थे। इसके बाद रेसलिंग फेडरेशन से इस्तीफा दे दिया था। विवाद में आने के बाद चर्चा थी कि बृजभूषण का टिकट कट सकता है। हालांकि इस सीट पर प्रत्याशी घोषित नहीं किया गया है।

प्रयागराज: यहां से 2019 में भाजपा के टिकट पर रीता बहुगुणा जोशी सांसद हैं। वह कांग्रेस से भाजपा में आई थीं। 2014 में भाजपा के टिकट पर श्यामा चरण गुप्त ने जीत दर्ज की थी। इसके पहले, 2009 में सपा के टिकट पर रेवती रमण सिंह ने जीत दर्ज की थी। प्रयागराज गांधी परिवार का घर है। लेकिन यहां 40 साल से कांग्रेस नहीं जीत पाई। पार्टी ने इस सीट को अभी होल्ड पर रखा है।

रायबरेली: यहां से 2004 से सोनिया गांधी लगातार सांसद हैं। रायबरेली सीट कांग्रेस परिवार का गढ़ रही है। इस बार सोनिया गांधी पहले ही चुनाव नहीं लड़ने का ऐलान कर चुकी हैं। इस सीट को भी बीजेपी ने होल्ड पर ऱखा है।

51 नाम की पहली लिस्ट में 21 OBC, 18 जनरल और 12 दलित
भाजपा की 51 नाम की पहली लिस्ट में ओबीसी के 21, सामान्य वर्ग के 18 और दलित 12 उम्मीदवारों को टिकट दिए हैं। ओबीसी के 21 प्रत्याशियों को उतारकर भाजपा ने 10 जातियों को प्रतिनिधित्व दिया। इनमें लोधी, कुर्मी, जाट, गुर्जर-निषाद, तेली, कश्यप, कुशवाहा, यादव, सैनी हैं।

सामान्य वर्ग के जिन 18 उम्मीदवारों को मैदान में उतारा है उनमें 10 ब्राह्मण, 7 राजपूत और 1 पारसी (स्मृति ईरानी) है। वहीं, 12 दलितों को टिकट देकर पार्टी ने पासी, पाल, कोरी, धानुक, जाटव और खटीक को साधा है। पहली सूची में ऐसे 28 सांसद हैं, जो लगातार तीसरी बार चुनाव लड़ेंगे।

पीएम मोदी वाराणसी से तीसरी बार चुनाव लड़ेंगे। लखीमपुर में खीरी से अजय मिश्रा ‘टेनी’ और श्रावस्ती से नृपेंद्र मिश्रा के बेटे साकेत मिश्रा को टिकट दिया है। टिकट हासिल करने वालों में 75 साल से अधिक उम्र की हेमामालिनी के अलावा 70 से अधिक उम्र वाले कई सांसद हैं।

2024 में दो नए साथियों से भाजपा का गठबंधन, रालोद और सुभासपा
2024 के लोकसभा चुनाव में भाजपा ने यूपी से 80 सीटों पर जीत का टारगेट रखा है। यानी, हर सीट पर जीत। इस मुश्किल लक्ष्य को पाने के लिए भाजपा ने नए साथियों रालोद और सुभासपा से गठबंधन किया है। रालोद का तो सपा से गठबंधन हो गया था। उसके बाद भी आखिरी वक्त में भाजपा ने जयंत को तोड़कर अपने पक्ष में कर लिया।

वहीं, ओपी राजभर भी 2019 में सपा के साथ नहीं थे। करीब 8 महीने पहले वह भाजपा के साथ आए। चुनाव से ठीक पहले राजभर को योगी सरकार में मंत्री भी बनाया गया। इसके साथ, अनुप्रिय पटेल की अपना दल (एस) और संजय निषाद की निषाद पार्टी भी एनडीए के गठबंधन में हैं।

अब तक की गणित के मुताबिक, भाजपा ने निषाद पार्टी के प्रमुख संजय निषाद के बेटे प्रवीण निषाद को संतकबीरनगर से भाजपा के सिंबल पर चुनाव लड़ाया है। वहीं, सीट शेयरिंग फॉर्मूले के तहत बीजेपी अपना दल और RLD दो-दो सीटें, तो सुभासपा को एक सीट दे रही है। अपना दल (एस) को सोनभद्र और मिर्जापुर, तो RLD को बागपत और बिजनौर सीट दी है।

इन 14 सीटों पर है विपक्ष का कब्जा
गाजीपुर, लालगंज, नगीना, बिजनौर, अमरोहा, रायबरेली, अंबडेकरनगर, घोसी, सहारनपुर, श्रावस्ती, जौनपुर, मैनपुरी, मुरादाबाद, संभल।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Related articles

रामदेव-बालकृष्ण ने विज्ञापन केस में दूसरा माफीनामा छपवाया:कोर्ट ने कहा था- साइज ऐसा न हो कि माइक्रोस्कोप से पढ़ना पड़े

यूथ इंडिया, नई दिल्ली। पतंजलि, बाबा रामदेव और बालकृष्ण ने बुधवार (24 अप्रैल) को अखबारों में एक और...

फर्रुखाबाद में घर से लापता आढ़ती का मिला शव:सिर पर लगा था हेलमेट, बाइक मिली गायब, मंडी में दुकान पर जाने के लिए निकले...

यूथ इंडिया, फर्रुखाबाद। फर्रुखाबाद में एक आढ़ती सोमवार की शाम को घर से निकला था। देर रात तक...

रॉबर्ट वाड्रा अबकी बार…अमेठी में कांग्रेस दफ्तर के बाहर लगे पोस्टर; राहुल गांधी क्या करेंगे

अमेठी, यूथ इंडिया। कांग्रेस ने अब तक अमेठी लोकसभा सीट पर अपने उम्मीदवार के नाम का ऐलान नहीं...

DRDO ने बनाई सबसे हल्की बुलेट प्रूफ जैकेट:स्नाइपर की 6 गोलियां नहीं भेद सकीं; आर्मी चीफ बोले- देश युद्ध में जाने से नहीं हिचकिचाएंगे

यूथ इंडिया, नई दिल्ली। रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) ने देश की सबसे हल्की बुलेट प्रूफ जैकेट...