झांसी में SDM के भाई ने किया सुसाइड:दुकान चलाकर परिवार का पेट पालते थे, प्रशासन ने तोड़ दिया था

Date:

Share post:

यूथ इंडिया, झांसी। झांसी में बुधवार सुबह एसडीएम के भाई का शव फंदे पर लटका मिला है। वे दुकान चलाते थे और खेती भी करते थे। प्रशासन ने उनकी 2 दुकानें गिरा दी थी। इससे वे परेशान थे। उसके बाद बारिश और ओलावृष्टि से उनकी फसल खराब हो गई। इससे वह डिप्रेशन में आ गए। इसके चलते उन्होंने फांसी लगा ली।

छोटे बेटे की नींद खुली तो पिता के कमरे में जाकर देखा। पिता अंदर कुंड़े पर रस्सी के सहारे लटके हुए थे। खिड़की तोड़कर उनको फंदे से नीचे उतारा गया। लेकिन तब तक पिता की मौत हो चुकी थी। पूरा मामला पूंछ का है। पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम की कार्रवाई शुरू कर दी है।

ये तस्वीर राममोहन (54) की है। वह खेती करते थे और दुकान चलाते थे।

ये तस्वीर राममोहन (54) की है। वह खेती करते थे और दुकान चलाते थे।

बेटे के साथ मिलकर दुकान चलाते थे

मृतक का नाम राममोहन (54) है। वह पूंछ के रहने वाले थे। मृतक के बेटे पुरुषार्थ ने बताया कि “नाला पट्‌टी पर 18 दुकानें बनी हुई थी। इसमें से दो दुकाने मैं और पिता 15 साल से चला रहे थे। एक में जूता-चप्पल और दूसरी दुकान में कॉस्मेटिक का सामान रखे हुए थे। पहले हम लोग गांव के एक व्यक्ति को किराया दिया करते थे।

कुछ समय पहले पता चला कि ये सभी दुकान ग्राम पंचायत की जमीन पर बनी है। जुलाई 2023 में प्रशासन ने सभी 18 दुकानों को तोड़ दिया था। इसके बाद मैं और पिता बेरोजगार हो गए थे। पिछले दिनों बारिश और ओलावृष्टि होने से फसल भी खराब हो गई। इससे पिता डिप्रेशन में आ गए थे।”

राममोहन की मौत के बाद उनके भाई एसडीएम संतोष मुदगिल झांसी पहुंच गए।

राममोहन की मौत के बाद उनके भाई एसडीएम संतोष मुदगिल झांसी पहुंच गए।

दो दिन पहले एसडीएम को दिया था ज्ञापन

बेटे ने आगे बताया कि “दुकानें टूटने के बाद सभी दुकानदार परेशान थे। विधायक और सांसद से दुकान की जगह लोहे का डिब्बा रखवाने की मांग की थी। जनप्रतिनिधियों ने भरोसा दिया तो सभी लोग 8 माह से भटक रहे थे। दो दिन पहले ही दुकानदारों ने मोंठ एसडीएम को ज्ञापन दिया था। लेकिन 8 माह से कोई पॉजीटिव रिस्पॉन्स नहीं मिल रहा था।

मंगलवार रात को पिता खेत से लौटकर आए। इसके बाद वे बिना खाना खाए ही सो गए। रात एक बजे तक मैं जागता रहा, तब तक ठीक रहा। इसके बाद सुबह 3 से 4 बजे के बीच वह दूसरे कमरे में चले गए और फांसी लगा ली।”

ये तस्वीर राममोहन के घर की है। उनकी मौत के बाद घर में सन्नाटा पसरा हुआ है।

ये तस्वीर राममोहन के घर की है। उनकी मौत के बाद घर में सन्नाटा पसरा हुआ है।

खिड़की से देखा तो फंदे पर लटके थे पिता

पुरुषार्थ ने आगे बताया कि “मैं आज सुबह 6 बजे जगा तो पिता नहीं दिखाई दिए। कमरा अंदर से बंद था। खिड़की से झांककर देखा तो पिता फंदे पर लटके हुए थे। खिड़की तोड़कर अंदर गए और पिता को नीचे उतारा। तब तक उनकी मौत हो चुकी थी। दुकानें टूटने और फसल नुकसान होने से पिता ने डिप्रेशन में आकर सुसाइड किया है।”

राममोहन की मौत के बाद उनके घर लोगों का आना जाना लगा हुआ है।

राममोहन की मौत के बाद उनके घर लोगों का आना जाना लगा हुआ है।

4 भाइयों में सबसे बड़े थे राममोहन

राममोहन 4 भाइयों में सबसे बड़े थे। उनसे छोटे भाई संतोष मुदगिल मध्य प्रदेश में एसडीएम के पद पर कार्यरत हैं। फिलहाल वह भोपाल में तैनात हैं। एक भाई मनोज दतिया में मां पीतांबरा पीठ मंदिर में मैनजर के पद पर कार्यरत हैं। एक भाई और हैं।

वहीं, राममोहन के दो बेटे और एक बेटी है। वह बड़े बेटे कपिल और बेटी शिवानी की शादी कर चुके थे। कपिल इंदौर में प्राइवेट सेक्टर में जॉब करता है। जबकि छोटा बेटा पुरुषार्थ पिता के साथ रहता था। राममोहन की मौत की सूचना पर उनके भाई एसडीएम संतोष मुदगिल झांसी पोस्टमार्टम हाउस पहुंच गए।

बेटे पुरुषार्थ ने बताया कि दुकानें टूटने और फसल नुकसान होने से पिता डिप्रेशन में थे। इसी के चलते सुसाइड किया है।

बेटे पुरुषार्थ ने बताया कि दुकानें टूटने और फसल नुकसान होने से पिता डिप्रेशन में थे। इसी के चलते सुसाइड किया है।

मामले की जांच की जा रही है

पूंछ थाना प्रभारी निरीक्षक जेपी पाल ने बताया कि राममोहन ने सुसाइड किया है। परिजनों ने सुसाइड का कारण दुकान गिरने से बेरोजगार होने और ओलावृष्टि से फसल खराब होना बताया है। फिर भी पूरे मामले की जांच की जा रही है। शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Related articles

प्रदीप मिश्रा बोले-प्रमाण चाहिए तो कुबरेश्वर धाम आ जाएं:राधा रानी पर प्रवचन को लेकर विवाद; संत प्रेमानंद ने कहा था- तुम नर्क में जाओगे

यूथ इंडिया, खंडवा। राधा रानी प्रसंग पर कथावाचक पं. प्रदीप मिश्रा (सीहोर वाले) के प्रवचन पर विवाद छिड़...

RSS चीफ भागवत बोले- काम करें, अहंकार न पालें:चुनाव में मुकाबला जरूरी, लेकिन यह झूठ पर आधारित न हो

नागपुर, यूथ इंडिया एजेंसी। RSS चीफ मोहन भागवत सोमवार 10 जून को नागपुर में संघ के कार्यकर्ता विकास...

सिपाही को कुचलने वालों को पुलिस ने दौड़ाकर मारी गोली:अस्पताल में चल रहा आरोपियों का इलाज; अवैध खनन रोकने गए सिपाही पर चढ़ा दी...

यूथ इंडिया, फर्रुखाबाद/लखनऊ। फर्रुखाबाद में सिपाही की ट्रैक्टर से कुचल कर हत्या करने वालों को पुलिस ने दौड़ाकर...