अखिलेश से पल्लवी पटेल की बगावत:बिना बताए 3 सीटों पर चुनाव लड़ने का ऐलान, कहा-मिर्जापुर, फूलपुर-कौशांबी हमें चाहिए

Date:

Share post:

यूथ इंडिया, लखनऊ। यूपी में I.N.D.I गठबंधन में सीट बंटवारे को लेकर समाजवादी पार्टी और अपना दल (कमेरावादी) में फूट पड़ गई है। पार्टी की कार्यवाहक अध्यक्ष पल्लवी पटेल ने बगावती रुख अपना लिया। उन्होंने सपा प्रमुख अखिलेश यादव को बिना बताए अपनी पसंद की 3 सीटों पर चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया।

पल्लवी पटेल ने कहा कि I.N.D.I गठबंधन के तहत हमें फूलपुर, मिर्जापुर और कौशांबी सीटें चाहिए। अब गठबंधन तय करेगा कि हमने जो सीटें मांगी हैं, वह देगा या नहीं? इन 3 सीटों में मिर्जापुर से पल्लवी की बहन अनुप्रिया पटेल सांसद हैं। ये तीनों सीटें I.N.D.I गठबंधन के तहत सपा के पास हैं।

वहीं, इस राजनीतिक घटनाक्रम पर सपा के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल का कहना है कि पल्लवी पटेल ने न मौखिक और न ही लिखित में यह बात बताई है। वहीं, कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय राय का कहना है कि ये सीटें सपा के पास हैं। इसे सपा से क्लियर कराना होगा। अखिलेश यादव ने मिर्जापुर से राजेंद्र एस बिंद को टिकट दिया है।

पल्लवी पटेल 17 फरवरी को वाराणसी में राहुल गांधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा में शामिल हुई थीं।
पल्लवी पटेल 17 फरवरी को वाराणसी में राहुल गांधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा में शामिल हुई थीं।

कृष्णा पटेल बोलीं- हम I.N.D.I गठबंधन में लंबे समय से
दरअसल, अपना दल (कमेरावादी) की बुधवार को केंद्रीय कार्यसमिति की बैठक थी। मीटिंग के बाद पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष कृष्णा पटेल ने कहा, ”हम I.N.D.I गठबंधन में लंबे समय से हैं। हम उनकी सभी मीटिंग में गए हैं। हम लोग उनके साथ हैं। इसके तहत ही हमने तीन सीटों की घोषणा की है।”

कृष्णा पटेल ने कहा-हम I.N.D.I गठबंधन में लंबे समय से हैं। इसके तहत ही हमने तीन सीटों की घोषणा की है।
कृष्णा पटेल ने कहा-हम I.N.D.I गठबंधन में लंबे समय से हैं। इसके तहत ही हमने तीन सीटों की घोषणा की है।
अपना दल (कमेरावादी) ने बुधवार को प्रेस रिलीज जारी करके तीन सीटों पर चुनाव लड़ने का ऐलान किया।
अपना दल (कमेरावादी) ने बुधवार को प्रेस रिलीज जारी करके तीन सीटों पर चुनाव लड़ने का ऐलान किया।

राज्यसभा चुनाव में भी पल्लवी और अखिलेश के बीच तल्खी सामने आई थी
यूपी में राज्यसभा चुनाव में भी पल्लवी पटेल और अखिलेश यादव के बीच तल्खी सामने आई थी। पल्लवी ने पहले राज्यसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी के उम्मीदवारों को वोट नहीं देने की बात कही। हालांकि, बाद में उन्होंने सपा प्रत्याशी के पक्ष में मतदान किया। मगर, वह मतदान करने तब पहुंचीं, जब अखिलेश सदन से चले गए थे।

दरअसल, पल्लवी का कहना था कि जिस PDA यानी पिछड़ा, दलित और अल्पसंख्यक की बात अखिलेश यादव करते हैं, वह राज्यसभा उम्मीदवारों के चयन में कहीं नहीं दिखा। दैनिक भास्कर से बात करते हुए पल्लवी पटेल ने कहा था- कुछ लोग PDA के नाम पर बच्चन और रंजन को राज्यसभा भेज रहे। यह ठीक नहीं। अगर बात पिछड़ा, दलित और अल्पसंख्यक की करते हैं तो राज्यसभा के चुनाव में उन्हें उम्मीदवार क्यों नहीं बनाया गया?

हालांकि, पल्लवी पटेल के करीबियों ने दावा किया था कि अखिलेश यादव ने राज्यसभा चुनाव में सपा प्रत्याशी के पक्ष में वोट करने के लिए पल्लवी को फोन किया था। बातचीत के क्रम में अखिलेश ने पल्लवी पटेल को आलोक रंजन को वोट देने के लिए मनाया था।

पल्लवी पटेल के साथ सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव। (फाइल फोटो)
पल्लवी पटेल के साथ सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव। (फाइल फोटो)

2009 से राजनीति में सक्रिय पल्लवी, डिप्टी सीएम केशव मौर्य को हराया था
पल्लवी पटेल दिग्गज नेता सोनेलाल पटेल की बेटी हैं। वह साइंस की छात्रा रही हैं। वो अपना दल (एस) की अनुप्रिया पटेल की बड़ी बहन हैं। पिता सोनेलाल पटेल के निधन के बाद पल्लवी पटेल 2009 में राजनीति में सक्रिय हुईं। पिता के निधन के बाद उनकी मां कृष्णा पटेल पार्टी की अध्यक्ष बनीं।

अनुप्रिया पटेल ने राष्ट्रीय महासचिव की जिम्मेदारी संभाली। इसके बाद 2014 में कृष्णा पटेल ने पल्लवी को पार्टी का उपाध्यक्ष बनाया। अनुप्रिया ने इसका विरोध किया और 2016 में मामला चुनाव आयोग तक पहुंच गया। इसके बाद पार्टी दो धड़े में बंट गई।

एक तरफ जहां अनुप्रिया पटेल, अपना दल (सोनेलाल) भाजपा के साथ मिलकर चुनाव लड़ रही हैं। वहीं, पल्लवी अपना दल (कमेरावादी) से चुनाव लड़ती आई हैं। सपा के साथ गठबंधन कर यूपी विधानसभा चुनाव में भी उतरी थीं। उन्होंने कौशांबी की सिराथू विधानसभा सीट से डिप्टी सीएम केशव मौर्य को हराया था। फिलहाल, पल्लवी पटेल अपना दल कमेरावादी की कार्यवाहक अध्यक्ष हैं। उनके पति पंकज निरंजन पटेल भी पार्टी में सक्रिय हैं।

2019 में कांग्रेस से किया था गठबंधन
2019 में पल्लवी की पार्टी का कांग्रेस के साथ गठबंधन था। कांग्रेस ने उनके पति पंकज पटेल को फूलपुर से टिकट दिया था। पिछले चुनाव में वह भाजपा और सपा उम्मीदवार के बाद तीसरे नंबर पर रहे थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Related articles

रामदेव-बालकृष्ण ने विज्ञापन केस में दूसरा माफीनामा छपवाया:कोर्ट ने कहा था- साइज ऐसा न हो कि माइक्रोस्कोप से पढ़ना पड़े

यूथ इंडिया, नई दिल्ली। पतंजलि, बाबा रामदेव और बालकृष्ण ने बुधवार (24 अप्रैल) को अखबारों में एक और...

फर्रुखाबाद में घर से लापता आढ़ती का मिला शव:सिर पर लगा था हेलमेट, बाइक मिली गायब, मंडी में दुकान पर जाने के लिए निकले...

यूथ इंडिया, फर्रुखाबाद। फर्रुखाबाद में एक आढ़ती सोमवार की शाम को घर से निकला था। देर रात तक...

रॉबर्ट वाड्रा अबकी बार…अमेठी में कांग्रेस दफ्तर के बाहर लगे पोस्टर; राहुल गांधी क्या करेंगे

अमेठी, यूथ इंडिया। कांग्रेस ने अब तक अमेठी लोकसभा सीट पर अपने उम्मीदवार के नाम का ऐलान नहीं...

DRDO ने बनाई सबसे हल्की बुलेट प्रूफ जैकेट:स्नाइपर की 6 गोलियां नहीं भेद सकीं; आर्मी चीफ बोले- देश युद्ध में जाने से नहीं हिचकिचाएंगे

यूथ इंडिया, नई दिल्ली। रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) ने देश की सबसे हल्की बुलेट प्रूफ जैकेट...