CBI को सौंपी गई इनेलो नेता की हत्या की जांच:देर शाम अंतिम संस्कार; सुपारी किलिंग के शक में तिहाड़ में गैंगस्टरों से पूछताछ

Date:

Share post:

यूथ इंडिया, बहादुरगढ़। हरियाणा में इंडियन नेशनल लोकदल (INLD) के प्रदेश अध्यक्ष नफे सिंह राठी की हत्या की जांच सेंट्रल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन (CBI) को सौंपी जाएगी। सोमवार को हरियाणा विधानसभा के बजट सत्र में कांग्रेस ने सरकार से हाईकोर्ट के जज या CBI से जांच कराने की मांग की थी। इस पर गृहमंत्री ने अनिल विज ने जवाब दिया कि हम CBI जांच कराने को तैयार हैं।

इसके बाद परिवार अंतिम संस्कार के लिए तैयार हुआ। हालांकि परिवार ने आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस को 7 दिन का टाइम भी दिया है। जिसके बाद राठी का बहादुरगढ़ में अंतिम संस्कार कर दिया गया। उन्हें बड़े बेटे भूपेंद्र राठी ने मुखाग्नि दी। अंतिम विदाई देने के लिए समर्थकों की भारी भीड रही।

सूत्रों के अनुसार पुलिस को शक है कि जिस तरह परफेक्ट प्लानिंग से मर्डर किया गया, उसमें किसी गैंग का हाथ हो सकता है। यह कॉन्ट्रैक्ट (सुपारी) किलिंग भी हो सकती है। इसकी जांच के लिए एक टीम गुपचुप तरीके से तिहाड़ जेल में कुछ गैंगस्टरों से पूछताछ करने पहुंची है। दूसरे राज्यों में जाकर भी इसकी जांच की जा रही है।

नफे सिंह राठी के हत्या से पहले का एक CCTV फुटेज भी सामने आया है। इसमें बदमाश सफेद रंग की कार HR-51BV 1480 में दिख रहे हैं। ड्राइवर के बगल वाली सीट पर बैठा हमलावर फोन पर बात करता हुआ दिखाई दे रहा है।

राठी की रविवार, 25 फरवरी की शाम को हत्या कर दी गई थी। राठी बहादुरगढ़ के पास बराही रेलवे फाटक बंद होने की वजह से रुके थे।

उसी दौरान I-10 कार में आए हमलावर राठी की फॉर्च्यूनर के पास पहुंचे। इसके बाद उन्होंने राठी पर 40 से 50 राउंड गोलियां चलाईं। इसके बाद वे सोनीपत की तरफ फरार हो गए।

बहादुरगढ़ में नफे सिंह राठी की हत्या से पहले बदमाश CCTV कैमरे में सफेद रंग की कार में दिखाई दिए।

बहादुरगढ़ में नफे सिंह राठी की हत्या से पहले बदमाश CCTV कैमरे में सफेद रंग की कार में दिखाई दिए।

नफे सिंह को बेहद करीब से गोली मारी।

नफे सिंह को बेहद करीब से गोली मारी।

3 भाजपा नेताओं के खिलाफ FIR
पुलिस ने राठी के भांजे संजय की शिकायत पर भाजपा के पूर्व MLA नरेश कौशिक, पूर्व चेयरमैन कर्मबीर राठी, पूर्व मंत्री मांगेराम राठी के बेटे सतीश नंबरदार, राहुल, कमल और गौरव के खिलाफ हत्या समेत 8 धाराओं के तहत FIR दर्ज की है।

आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए राठी समर्थकों ने अस्पताल के बाहर रोड जाम भी किया था। धरनास्थल पर इनेलो नेता अभय सिंह चौटाला भी पहुंचे थे।

झज्जर के SP अर्पित जैन ने कहा कि जांच के लिए 2 DSP के नेतृत्व में 5 टीमें बनाई हैं। CIA और STF को भी लगाया है। इस हमले में राठी के साथ पार्टी कार्यकर्ता जयकिशन दलाल की भी मौत हो गई। वहीं भांजे संजय और निजी सुरक्षाकर्मी की हालत गंभीर बनी हुई है। उन्हें ब्रह्मशक्ति संजीवनी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

SP ने कहा कि अभी किसी भी आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हुई है। कुछ लोगों को राउंडअप किया है।

चश्मदीद ड्राइवर की जुबानी, हत्या की पूरी कहानी

नफे सिंह राठी की कार उनका भांजा संजय सिंह (ड्राइवर सीट पर) चला रहा था। हमले के बाद जब उन्हें समझ आया, तब तक नफे की मौत हो चुकी थी।।

नफे सिंह राठी की कार उनका भांजा संजय सिंह (ड्राइवर सीट पर) चला रहा था। हमले के बाद जब उन्हें समझ आया, तब तक नफे की मौत हो चुकी थी।।

1. मैंने देखा था कि सफेद रंग की कार पीछा कर रही
पुलिस को दिए बयान में हत्या के वक्त नफे सिंह राठी की कार चला रहे भांजे संजय ने हत्याकांड की पूरी कहानी बताई है। उन्होंने बताया, ‘हम आसौदा गांव में उनके परिवार में शोक व्यक्त करने गए थे। मैं मामा नफे सिंह राठी के साथ ड्राइवर हूं। रविवार (25 फरवरी) को असौदा गांव में सामाजिक कार्य करके बहादुरगढ़ वापस आ रहे थे। हम फॉर्च्यूनर गाड़ी नंबर (HR12AF-0011) में थे। मैं गाड़ी चला रहा था। राठी साइड वाली सीट पर बैठे थे। गाड़ी की पिछली सीट पर कबलाना निवासी संजीत और लाइनपार बहादुरगढ़ निवासी जयकिशन बैठे हुए थे।’

‘शाम करीब सवा 5 बजे, जब वे बराही फाटक से पहले गाड़ी में आ रहे थे तो मैंने एक सफेद रंग की कार को शीशे में पीछा करते देखा। कुछ आवाज भी आई तो मैंने गाड़ी की स्पीड तेज करनी चाही। अचानक सामने फाटक बंद दिखाई दिया। मैंने गाड़ी रोकी तो एकाएक 5 लड़के पिस्टल-हथियारों सहित सफेद कार से उतरकर आए। उन्होंने ललकार कर कहा कि सतीश, कर्मबीर राठी, नरेश कौशिक से दुश्मनी का इनको सबक सिखा दो। उन्होंने हम पर ताबड़तोड़ फायरिंग की, जो मेरे बाईं बाजू, जांघ और कमर पर लगी।’

2. हमलावर मुझसे बोला- तुझे जिंदा छोड़ रहा, घर जाकर बता देना
‘उनमें से एक व्यक्ति ड्राइवर वाली विंडो पर आया और बोला कि तुझे जिंदा छोड़ रहा हूं, इनके घर जाकर बता देना कि नरेश कौशिक, कर्मबीर राठी, रमेश राठी, सतीश राठी, गौरव राठी, राहुल व कमल के खिलाफ कभी भी किसी भी अदालत में गए तो सारे परिवार को मार देंगे। मैंने अपने आपको संभाला तो देखा कि मामा (नफे सिंह राठी) और जयकिशन की मौत हो चुकी थी। संजीत की हालत गंभीर थी। राहगीर हम सभी को ब्रह्मशक्ति संजीवनी अस्पताल ले आए। जहां मेरा इलाज चल रहा है। मैं हमलावरों को सामने आने पर पहचान सकता हूं।’

फॉर्च्यूनर की अगली सीट पर मृत पड़े नफे सिंह राठी।

फॉर्च्यूनर की अगली सीट पर मृत पड़े नफे सिंह राठी।

परिवार में शोक व्यक्त कर लौट रहे थे राठी

हमले का पता चलते ही अस्पताल के बाहर समर्थकों की भीड़ जमा हो गई। हमले के बाद नफे सिंह राठी और उनके 3 गनमैनों को यहीं भर्ती कराया गया।

हमले का पता चलते ही अस्पताल के बाहर समर्थकों की भीड़ जमा हो गई। हमले के बाद नफे सिंह राठी और उनके 3 गनमैनों को यहीं भर्ती कराया गया।

राठी की साइड गाड़ी पर 10 बुलेट आर-पार
फायरिंग में राठी वाली साइड पर गाड़ी की बॉडी से कुल 10 बुलेट्स आर-पार हो गईं। 6 गोलियां खिड़की के शीशे को तोड़कर भी राठी को लगीं। गाड़ी की पिछली सीट पर बैठे गनमैन को टारगेट करते हुए जो फायरिंग की गई, उनमें से 4 गोलियां गाड़ी की बॉडी के आर-पार हो गईं।

कुछ बुलेट्स जयकिशन और संजीत को लगीं। अंदर किसी को संभलने तक का मौका नहीं मिला। हमलावरों का टारगेट सीधे नफे सिंह राठी ही थे, इसलिए उन्होंने फॉर्च्यूनर गाड़ी पर सामने की तरफ से कोई फायरिंग नहीं की। यही वजह रही कि गाड़ी की विंडशील्ड को इस फायरिंग में कोई नुकसान नहीं पहुंचा।

पुलिस को मौके से 21 खोल बरामद हुए हैं। अधिकारियों को शक है कि हत्या में 3 तरह की गन का इस्तेमाल की गईं।

अस्पताल पहुंचने से पहले ही दम तोड़ चुके थे राठी
संजीवनी अस्पताल के डॉक्टर मनीष शर्मा ने बताया कि नफे सिंह राठी और उनके साथी की अस्पताल पहुंचने से पहले ही मौत हो चुकी थी। उन्हें गर्दन, पेट के पीछे, पीठ और गर्दन में गोली लगी थी। कई गोलियां लगने की वजह से उनकी नसें कई जगह से डैमेज हो गई, जिस वजह से ज्यादा खून बहा और उनकी मौत हो गई। जयकिशन दलाल का भी काफी खून बह चुका था। बाकी 2 मरीजों की हालत भी गंभीर थी।

घायलों और मृतकों के बारे में जानकारी देते संजीवनी अस्पताल के डॉक्टर मनीष शर्मा।

घायलों और मृतकों के बारे में जानकारी देते संजीवनी अस्पताल के डॉक्टर मनीष शर्मा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Related articles

रामदेव-बालकृष्ण ने विज्ञापन केस में दूसरा माफीनामा छपवाया:कोर्ट ने कहा था- साइज ऐसा न हो कि माइक्रोस्कोप से पढ़ना पड़े

यूथ इंडिया, नई दिल्ली। पतंजलि, बाबा रामदेव और बालकृष्ण ने बुधवार (24 अप्रैल) को अखबारों में एक और...

फर्रुखाबाद में घर से लापता आढ़ती का मिला शव:सिर पर लगा था हेलमेट, बाइक मिली गायब, मंडी में दुकान पर जाने के लिए निकले...

यूथ इंडिया, फर्रुखाबाद। फर्रुखाबाद में एक आढ़ती सोमवार की शाम को घर से निकला था। देर रात तक...

रॉबर्ट वाड्रा अबकी बार…अमेठी में कांग्रेस दफ्तर के बाहर लगे पोस्टर; राहुल गांधी क्या करेंगे

अमेठी, यूथ इंडिया। कांग्रेस ने अब तक अमेठी लोकसभा सीट पर अपने उम्मीदवार के नाम का ऐलान नहीं...

DRDO ने बनाई सबसे हल्की बुलेट प्रूफ जैकेट:स्नाइपर की 6 गोलियां नहीं भेद सकीं; आर्मी चीफ बोले- देश युद्ध में जाने से नहीं हिचकिचाएंगे

यूथ इंडिया, नई दिल्ली। रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) ने देश की सबसे हल्की बुलेट प्रूफ जैकेट...