“अपरा काशी” में मेला श्री रामनगरिया का हुआ भव्य उद्घाटन

Date:

Share post:

फर्रुखाबाद। अपरा काशी में पांचालघाट के पतित पावनी तट पर बसे तंबुओं के शहर में माघ महीने के लिए जप तप शुरू हो गया है। साधु संतों और जनप्रतिनिधियों की उपस्थिति में गुरुवार को विधिवत मेला श्री रामनगरिया का उद्घाटन हो गया। मेले में करीब 30 हजार से अधिक साधु संत और कल्पवासी गंगा मइया की पूरे महीने भर साधना करेंगा। देश के विभिन्न हिस्सों से साधु संतों के डेरा डालने से मेले की छटा देखते ही बन रही है। गुरुवार की शाम को मेले का फीता काटकर उद्घाटन किया गया। आचार्य शिवकुमार शास्त्री ने हवन कराया।

उद्घाटन अवसर पर सांसद मुकेश राजपूत, विधायक सुनीलदत्त द्विवेदी, सुरभि, डीएम संजय कुमार सिंह, एसपी विकास कुमार, सीडीओ अरविंद कुमार मिश्रा, एडीएम सुभाष चंद्र प्रजापति के अलावा अन्य अधिकारी मौजूद थे। अफसरों, जनप्रतिनिधियों और संतों ने हवन में आहूतियां डालीं। मेले का विधिवत उद्घाटन होने के बाद रौनक देखते ही बनी। शाम को मेले की जगमग लाइटें शोभा बढ़ा रहीं थीं। शाम से ही मेले में साधु संतों के आश्रमों में अनुष्ठान भी शुरू हो गये। साधु संतों में प्रमुख रूप से महंत ईश्वरदास और सत्यगिरि मौजूद थे।

लेजर लाइट और 72 हजार दीपों से खिल उठा गंगातट

फर्रुखाबाद। पतित पावनी गंगा का तट पांचालघाट गुरुवार की शाम को अदभुत रंग में रंगा था। शुभारंभ पर लेजर लाइट और 72 हजार दीपों से गंगातट का आकर्षण देखते ही बना। मेला श्री रामनगरिया अपराकाशी की आकृति बनाकर दीपों से सजाया गया था। दीपों की छटा देखते ही बन रही थी। इस अनूठी आकृति को देखने के लिए सैकड़ों लोग उमड़ पड़े। पांचालघाट के पुल से भी लोगों ने इस अनुपन झांकी के दर्शन किए। लेजर लाइट शो में जिले के इतिहास का रेखांकन किया गया। इसके साथ ही आचार्य प्रमोद समेत 11 आचार्यो ने गंगा जी की आरती करायी। गंगा की धारा में दीपदान भी किया गया।

उद्घाटन से पूर्व साधु-संतों ने इटावा-बरेली हाईवे को कर दिया था जाम

बोले- मुख्य गेट से महंत ईश्वर दास महाराज की तस्वीर हटाएं, समितियों के अध्यक्षों-गुरुओं की फोटो लगाएं

मेला श्री रामनगरिया के मुख्य द्वार पर दुर्वासा ऋषि आश्रम के महंत ईश्वर दास महाराज का फोटो लगाए जाने से साधु संत नाराज हो गए। मेला श्री राम नगरिया संत समिति के अध्यक्ष सत्यगिरी महाराज के नेतृत्व में साधु संतों ने इटावा-बरेली हाईवे जाम कर दिया। हाईवे पर जाम लगने से दोनों तरफ वाहनों की लंबी कतार लग गई। संतों कहा कि मुख्य द्वार पर लगी संत की फोटो हटाई जाए। प्रशासनिक अधिकारियों ने आनन फानन में संत की फोटो को हटाया। सूचना पर पहुंचे कादरी के थानाध्यक्ष विनोद कुमार शुक्ला व मेला प्रशासन द्वारा साधु संतों का काफी मनौवल किया। संत समिति अध्यक्ष सत्यगिरी महाराज ने कहा कि मेला क्षेत्र में तीन समितियां हैं और उन्हीं समितियां के अध्यक्षों या उनके गुरुओं की फोटो लगाए जानी चाहिए।

साधु-संतों के जाम लगाने की सूचना पर पहुंची पुलिस ने तस्वीर को हटवाया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Related articles

प्रदीप मिश्रा बोले-प्रमाण चाहिए तो कुबरेश्वर धाम आ जाएं:राधा रानी पर प्रवचन को लेकर विवाद; संत प्रेमानंद ने कहा था- तुम नर्क में जाओगे

यूथ इंडिया, खंडवा। राधा रानी प्रसंग पर कथावाचक पं. प्रदीप मिश्रा (सीहोर वाले) के प्रवचन पर विवाद छिड़...

RSS चीफ भागवत बोले- काम करें, अहंकार न पालें:चुनाव में मुकाबला जरूरी, लेकिन यह झूठ पर आधारित न हो

नागपुर, यूथ इंडिया एजेंसी। RSS चीफ मोहन भागवत सोमवार 10 जून को नागपुर में संघ के कार्यकर्ता विकास...

सिपाही को कुचलने वालों को पुलिस ने दौड़ाकर मारी गोली:अस्पताल में चल रहा आरोपियों का इलाज; अवैध खनन रोकने गए सिपाही पर चढ़ा दी...

यूथ इंडिया, फर्रुखाबाद/लखनऊ। फर्रुखाबाद में सिपाही की ट्रैक्टर से कुचल कर हत्या करने वालों को पुलिस ने दौड़ाकर...